माननीय मुख्यमंत्री 

हरियाणा सरकारचंडीगढ़ 

श्रीमान जी,

सरकार, समाज व सभी राजनैतिक दलों के सांझे प्रयास से आज कोरोना वायरस की महामारी के समय पर भी हरियाणा देश के अन्य राज्यों के मुकाबले बहुत बेहतर स्थिति में है इसके लिए मैं आपका एवं प्रशासन का आभार व्यक्त करता हूँ एवं इस वैश्विक महामारी के समय प्रदेश के हर नागरिक की तरह सरकार के साथ कदम से कदम मिला कर चलने का भरोसा दिलाता हूँ।

महोदय, Corona Warriors को सम्मान देने के लिए सरकार की तरफ से विभिन्न प्रकार की योजनाएं बनाई गयी हैं एवं लगातार घोषणा जारी हैं। इसके लिए समाज के विभिन्न संगठनों एवं व्यक्तियों से भी लगातार सुझाव मांगे जा रहे हैं। पुलिसकर्मियों, पत्रकारों, चिकित्स्कों एवं स्वास्थ्य या सफाई  कर्मचारियों को लाभान्वित करने के लिए सरकार ने विभिन्न प्रकार की घोषणाएं की हैं।

मुख्यमंत्री जी, मैं आपका ध्यान एक प्रमुख बात की तरफ दिलाना चाहता हूँ।  जिस प्रकार दिन रात मुस्तैदी से पुलिस कर्मी एवं चिकित्स्क आदि हरियाणा की कोरोना से रक्षा करने के लिए कार्य कर रहे हैं, ठीक उस ही प्रकार इस अत्यंत कठिन समय में कृषक समाज भी लगातार अपनी जान को खतरे में डालते हुए न केवल शहरों में, कस्बों में सब्जी, अनाज, फल आदि की लगातार सप्लाई बनाए हुए है। न केवल दूध, फल, सब्जी एवं अनाज की उपलब्धता घर घर तक जा रही है, अपितु प्रवासी मजदूरों को भी लगाकर प्रशासनिक स्तर पर जो सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं उसमें भी कृषक समाज अपनी आहूति दे रहा है।

जैसा कि आपको विदित है कि हरियाणा में कृषि से जुड़ा हुआ अधिकतर समाज न केवल गरीब है अपितु उसके पास मूलभूत सुविधाएं भी नहीं हैं। आपको विदित है कि हरियाणा के विभिन्न भागों में किसानों को सब्जी मंडी, अनाज मंडी के अंदर आने की वजह से कोरोना बीमारी के संक्रमण का सामना करना पड़ा है। बावजूद इसके किसान लगातार सप्लाई को समस्त हरियाणा में सुचारू रूप से जारी किये हुए है। इससे न केवल उसे जान माल का खतरा है अपितु उसके परिवार को भी ठीक उस ही प्रकार खतरे का सामना करना पड़ रहा है जैसे कि पुलिस कर्मियों अथवा चिकित्स्कों को करना पड़ रहा है। सरकार के द्वारा चिकित्सकों, चिकित्सा विभाग के कर्मियों, पत्रकारों को सम्मान देते हुए उनके लिए इंश्योरेंस का प्रबंध किया गया है जिसका प्रीमियम सरकार अपनी तरफ से दे रही है अथवा देने की योजना बना रही है।

उपरोक्त के संदर्भ में मेरी आपसे विनती है कि ठीक उस ही प्रकार किसानों को, दूध, फल, सब्जी सप्लाई करने वालों को, पोल्ट्री सप्लाई करने वालों को भी सरकार Corona Warriors मानते हुए अपनी योजना में शामिल करे एवं इस वर्ग में से यदि किसी की कोरोना से मृत्यु होती है तो उसके परिवार को पचास लाख रूपये का मुआवजा दिया जाए ताकि हम इस वर्ग को भी समुचित सम्मान प्राप्त हो सके। इससे न केवल उनका सम्मान होगा, अपितु उन्हें सरकार एक आर्थिक सुरक्षा कवच भी उपलब्ध करवा पायेगी जिससे कि आम जन एवं किसानों का व्यवस्था पर विश्वास बढ़ सकेगा। इस सुझाव के क्रियान्वयन में सरकार को अधिक वित्तीय भार भी नहीं पड़ेगा। आशा है कि इस महत्त्वपूर्ण सुझाव पर आप अवश्य ध्यान देंगे।

धन्यवाद,

सादर

परमेन्द्र सिंह ढुल

पूर्व विधायक, जुलाना (जिला जीन्द)