हिन्दू विवाह अधिनियम की त्रुटियाँ

rsdhull निजी विचार, मुद्दे Leave a Comment

हिन्दू विवाह अधिनियम 1955 में बनाया गया वह कानून है जिसके बाद हिन्दू, सिख, बौद्ध एवं जैन धर्मों के विवाह, तलाक आदि को कोडीफाई कर दिया गया था. इससे पहले यह कानून कस्टम से चलता था और कस्टम के अनुसार बहुतेरी कमियां हमेशा से रही हैं. यदि हम हरियाणवी संस्कृति के अनुसार देखें तो हमें वहां बहुत सी कमियां मिलेंगी.

समान नागरिक संहिता

rsdhull निजी विचार, मुद्दे Leave a Comment

Uniform Civil Code अर्थात समान नागरिक संहिता एक ऐसा स्वप्न था जिसके अनुसार भारत के सभी नागरिकों को एक ही कानून से देखा जाये. जहाँ फौजदारी, संवैधानिक आदि कानून सभी नागरिकों पर एक समान लागू होते हैं तो वहीँ पर्सनल ला अर्थात निजी कानून जिनमें शादी, ब्याह, संपत्ति आदि शामिल हैं उन सब में व्यक्ति के ऊपर लागू कानून उनके धर्म के अनुसार तय किये जाते हैं.