Vision of RSDHULL

समर्थ कमेरा

कमेरा वर्ग यानी इस राष्ट्र का सक्षम मजदूर वर्ग जो अपने पसीने से उद्योगों से लेकर कृषि क्षेत्र को सींचता है, मेरा प्रथम स्वप्न है उसे समर्थन बनाने का ताकि वह अपनी मौलिक आवश्यकताओं को पूर्ण कर सके। किसी भी आपदा के समय इस वर्ग को सबसे अधिक नुक्सान होता है। कोरोना महामारी के प्रचार के समय हमे देखने को भी मिला कि सभी वर्गों की अपेक्षा इस वर्ग को सबसे अधिक नुकसान झेलना पड़ा है। इन्हे सामर्थ्य देना किसी भी राजनेता अथवा सामाजिक व्यक्ति का ध्येय होना चाहिए।

सफल युवा

कहा जाता है जहाँ युवा चलता है देश भी वहीँ चलता है। इस समय युवा दिशाहीन, नेतृत्वहीन है और विश्व में सबसे बड़ी बेरोजगारों की फ़ौज इस देश के अंदर अपने भविष्य की बाँट जोह रही है। युवा को उद्यमी बनाना और उसे स्वरोजगार अथवा रोजगार उपलब्ध करवाना मेरा लक्ष्य है। मेरा मानना है कि जब भी इस धरती पर इतिहास बदला है तो वह बदलाव लाने का काम इस देश के युवा ने ही किया है। इस राजनीति के शिकार वर्ग को मुख्यधारा में रख बलशाली बनाने की अपेक्षा रखता हूँ।

सक्षम किसान

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने कभी कहा था कि यदि भारत को समझना है तो ग्रामीण क्षेत्र को समझो। किसान हमारे देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी है। लेकिन यह वर्ग सबसे अधिक मेहनती होने के बावजूद भी न केवल सबसे अधिक राजनीति का शिकार है अपितु यह सबसे अधिक प्रताड़ित भी है। किसानों को उनकी फसलों का उचित मूल्य दिलवाना, कृषि क्षेत्र को विकसित कर लाभकारी बनाना एवं उन्हें अपनी पैदावार को सीधे बाजार में बेचने की ताकत देना मेरा लक्ष्य है।इस कार्य में अब तक सभी राजनैतिक दल असफल हुए हैं।

सशक्त उद्योग

उद्योगों के बिना मानवजाति के विकास की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। यही वह वर्ग है जो कृषि क्षेत्र की भांति हमारी नित्य प्रतिदिन की आवश्यकताओं की पूर्ति करता है एवं नव आविष्कारों से मानव जाति को सक्षम बनाने का कार्य करता है। इसके बावजूद भी उद्यमी खासकर छोटे उद्यमी अभी स्वयं को सुरक्षित नहीं महसूस करते। मेरा लक्ष्य है छोटे उद्यमियों को बढ़ावा देकर मुख्यधारा में शामिल करना एवं उन्हें आर्थिक शक्ति प्रदान करना।